शानदार पारी के बाद शार्दुल ठाकुर ने कहा- ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ये थी हमारी योजना

1/17/2021 6:15:17 PM

स्पोर्ट्स डेस्क : ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चौथे टेस्ट और सीरीज के अंतिम टेस्ट के तीसरे दिन शार्दुल ठाकुर और वाशिंगटन सुंदर ने 123 रन की पार्टनशिप करते हुए ना सिर्फ 7वें नम्बर पर सबसे बड़ी पार्टनशिप का रिकाॅर्ड बनाया बल्कि भारतीय पारी को संभाला भी। गाबा में खेले जा रहे मैच के तीसरे दिन का खेल समाप्त होने के बाद शार्दुल ने बताया कि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उनका क्या प्ला था। शार्दुल ने कहा, हमारी योजना ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों को थकाने की थी। 

भारत ने ऑस्ट्रेलियाई पारी के 369 से जवाब में 336 रन बनाए। शार्दुल ने 67 रन की इनिंग खेली जिसमें 144 गेंदों पर 7 चौकों और एक छक्के की मदद से 62 रन की पारी खेली। इसके जवाब में ऑस्ट्रेलिया ने दूसरी इनिंग की शुरूआत करते हुए गिना विकेट गंवाए 54 रन की बढ़त बना ली है। 

मैच के बाद शार्दुल ने कहा, वे मेरे साथ बातचीत करने की कोशिश कर रहे थे लेकिन मैं उनका जवाब नहीं दे रहा था। एक या दो बार मैंने उन्हें एक शब्द में उत्तर दिया लेकिन वे सामान्य प्रश्नों की तरह थे। यहां तक कि अगर उन्होंने मुझे स्लेज करने की कोशिश की, तो मैंने इसे नजरअंदाज कर दिया और खेलता रहा। 

इस 29 वर्षीय खिलाड़ी ने कहा, हम स्कोरबोर्ड को नहीं देख रहे थे। कुछ समय वहां बिताने का विचार था। हम जानते थे कि उनके गेंदबाज थके हुए थे और हमें लगा कि एक घंटे की बात है। इसलिए अगर हम एक घंटे और वहां रहते तो शायद हम शीर्ष पर होते। इसलिए हमारे लिए यह महत्वपूर्ण था कि हम वहां खड़े रहें, बचे हुए स्कोर बनाए। जब हम बीच में खेल रहे थे और हम में से एक ने एक रैश शॉट खेला तो दूसरा सिर्फ ऊपर जाएगा और दूसरे को बताएगा, 'ठीक है, तुम ध्यान खो रहे हो। वापस सामान्य हो जाओ। 

जब भी ब्रेक, ड्रिंक या चाय होती तो हम संवाद करते कि हम खेल को धीमा कर दें। ब्रेक होने वाला है। उन छोटी-छोटी बातचीत थी जो हमने की थी। उन्होंने कहा, जब हम नए थे, हम बहुत बचाव करने की कोशिश कर रहे थे। जैसे-जैसे हमारी साझेदारी बढ़ती गई, हमने शॉट्स खेलना शुरू कर दिया। हम जानते थे कि गाबा में कुछ उछाल है। अगर गेंदबाज अपनी लाइन और लेंथ पर गलती करता है, तो हम उन ढीली डिलेवरी को दूर कर सकते हैं। हमने अपने मौके का इंतजार किया। जब भी कोई ढीली डिलीवरी होती थी तो हम इसे चार रन के लिए भेजने की कोशिश करते थे। 
 


Sanjeev

Recommended News