बिहार के क्रिकेटरों को नहीं मिला पिछले साल का DA और मैच फीस, शाह को पत्र लिखकर की गई शिकायत

8/7/2020 11:32:51 AM

नई दिल्ली: बीसीसीआई के सीनियर से लेकर अंडर 16 टूर्नामेंटों में बिहार के लिए खेलने वाले सैकड़ों क्रिकेटरों को अभी तक पिछले सत्र का महंगाई भत्ता और यात्रा भत्ता और मैच फीस नहीं मिली है। आईपीएल याचिकाकर्ता आदित्य वर्मा ने इस संबंध में भारतीय क्रिकेट बोर्ड के सचिव जय शाह को पत्र लिखकर बोर्ड के 11 करोड़ रूपए तक के कोच में वित्तीय अनियमितताओं का आरोप लगाया है। प्रदेश संघ के महासचिव संजय कुमार का कहना है कि वर्मा के आरोप सही हैं।

PunjabKesari
कुमार ने कहा, ‘हम अपने सीनियर, अंडर 23, अंडर 19 और अंडर 16 क्रिकेटरों और महिला क्रिकेटरों को भुगतान नहीं कर सके हैं। हमें पिछले साल प्रशासकों की समिति से दस करोड़ 80 लाख रूपए मिले थे लेकिन अधिकांश पैसा पदाधिकारियों के वेतन चुकाने में खर्च हो गया।' सीनियर टीम के एक खिलाड़ी को 750 रूपए टीए, डीए और अंडर 23 तथा अंडर 19 को 500 रूपए जबकि अंडर 16 खिलाड़ियों को 350 रूपए प्रतिदिन मिलता है। 

PunjabKesari
कुमार ने कहा, ‘सीनियर टीम के एक नियमित खिलाड़ी का एक सत्र का टीए, डीए 75000 रूपए होता है अगर वह सारे प्रारूप खेलता है। हम समझते हैं कि खिलाड़ी दबाव में हैं। उन्हें मैच फीस भी नहीं मिली है और इसे लेकर वे आवाज भी नहीं उठा सकते।' वर्मा ने कहा, ‘मैं बोर्ड सचिव से अनुरोध करूंगा कि बिहार के क्रिकेटरों के हालात पर गौर करे जिन्हें कोई पैसा नहीं मिला जबकि बोर्ड ने 11 करोड़ रूपये उनके लिये दिये थे।'


neel

Related News