रोहित की फॉर्म पर कोच महेला जयवर्धने ने कहा- ...सब ठीक हो जाएगा

punjabkesari.in Thursday, Apr 14, 2022 - 12:52 PM (IST)

पुणे : मुंबई इंडियंस के कोच महेला जयवर्धने ने कहा कि वह इंडियन प्रीमियर लीग के 15वें चरण में कप्तान रोहित शर्मा की फॉर्म को लेकर चिंतित नहीं है क्योंकि एक बार बड़ी पारी खेलने से सब ठीक हो जाएगा। लेकिन टीम को उनकी इस पारी का बेसब्री से इंतजार है जिसका टूर्नामेंट में लगातार हार का सिलसिला जारी है। मुंबई इंडिंयस के कप्तान रोहित अपनी शुरूआत को बड़ी पारी में तब्दील नहीं कर सके हैं और इस सत्र में उन्होंने अब तक 21.60 के औसत से महज 108 रन बनाए हैं। 

रोहित की फॉर्म के बारे में ज्यादा चिंतित नहीं हूं 

जयवर्धने ने कहा, ‘अगर आप उसके पारी शुरू करने के तरीके को देखो तो वह जिस तरह से गेंद हिट करता है, वो शानदार है। वह गेंद की अच्छी टाइमिंग कर रहा है, उसे कुछ बहुत अच्छी शुरूआत मिल रही हैं। हां, वह निराश भी है कि वह इन्हें बड़ी पारियों में नहीं बदल पा रहा है।' उन्होंने कहा, ‘हमने रोहित को 14-15 ओवर तक गहराई तक बल्लेबाजी करते और बड़े स्कोर बनाते देखा है। यह सिर्फ समय की बात है। वह बेहतरीन खिलाड़ी है और मैं उसकी फॉर्म के बारे में ज्यादा चिंतित नहीं हूं।' 

मुंबई इंडियंस को बुधवार को पंजाब किंग्स के हाथों 12 रन से हार का सामना करना पड़ा जो उनकी लगातार पांचवीं शिकस्त थी जिससे टीम बाहर होने की कगार पर है। जयवर्धने ने कहा, ‘हम छह बल्लेबाजों के साथ खेल रहे थे और हमने मैच को गहराई तक ले जाने की कोशिश की थी। और मैच खत्म करने के लिए सूर्या (सूर्यकुमार यादव) से बेहतर खिलाड़ी कोई नहीं है।' पांचवें नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरे सूर्यकुमार ने 30 गेंद में 43 रन बनाये लेकिन वह 19वें ओवर में आउट हो गए। 

प्रतिद्वंद्वी टीम को देखने के बाद ही रणनीति बनाई थी

जयवर्धने ने कहा, ‘पावरप्ले में गेंदबाज गेंद को थोड़ा स्विंग करते हैं इसलिए मैं सूर्या का उस परिस्थिति में नहीं लाना चाहता था क्योंकि इससे वह अपना नैसर्गिक खेल नहीं खेल पाता। यह रणनीति का हिस्सा था।' उन्होंने कहा कि योजना यही थी कि मध्यक्रम में युवाओं को अधिक आजादी से खेलने दिया जाए और सूर्यकुमार तथा कीरोन पोलार्ड फिनिशर की भूमिका निभाएं। जयवर्धने ने कहा, ‘हम जानते हैं कि ये दो युवा खिलाड़ी ऐसा करने में सक्षम हैं। उन्हें इसलिए परिस्थितियों को संभालने के लिए उन्हें थोड़ी आजादी और नियंत्रण दिया है ताकि पॉली और सूर्या लक्ष्य तक पहुंच सके। यह शुरूआती योजना थी। प्रतिद्वंद्वी टीम को देखने के बाद ही रणनीति बनाई थी।' 

जोफ्रा आर्चर की कमी खल रही 

उन्होंने यह भी स्वीकार किया कि चोटिल जोफ्रा आर्चर की कमी टीम को खल रही है क्योंकि गेंदबाजी इकाई दबाव को बरकरार नहीं रख पा रही है। जयवर्धने ने कहा, ‘निश्चित रूप से, हमने नीलामी में अपने लिए जिस सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज जोफ्रा आर्चर को खरीदा था, वो यहां नहीं है। इसलिए जब आप उस स्थिति में होते हो तो यह मुश्किल होता है। लेकिन हम कोशिश कर रहे हैं कि कितना अच्छे तरीके से हम संभाल पाते हैं।' 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Sanjeev

Related News

Recommended News