विश्व शतरंज चैंपियनशिप – क्या मेगनस कार्लसन बचा पाएंगे अपना ताज

punjabkesari.in Monday, Nov 15, 2021 - 09:19 PM (IST)

दुबई ,यूएई ( निकलेश जैन ) वर्ष 2013 में 23 वर्ष की आयु में भारत के तत्कालीन विश्व शतरंज चैम्पियन विश्वनाथन आनंद को हराकर विश्व खिताब जीतने वाले नॉर्वे के मेगनस कार्लसन नें अब तक अपना दबदबा शतरंज की दुनिया में कायम रखा है । 2014 में फिर से आनंद ,2016 में सेरगी कार्याकिन और 2018 में फबियानों करूआना को हराकर वह चार बार विश्व चैम्पियन बन चुके है ।

PunjabKesari

2020 में कोरोना के चलते विश्व चैंपियनशिप नहीं हो पायी थी और अब 2021 में 26 नवंबर से 16 दिसंबर तक दुबई में होने जा रही है, फीडे कैंडीडेट जीतकर रूस के इयान नेपोंनियची कार्लसन के ताज को चुनौती देने के लिए उतरेंगे ।

PunjabKesari

फीडे नें इस बार फॉर्मेट में कुछ खास बदलाव कर दिये है जिसके चलते प्रतियोगिता और रोचक हो जाने की उम्मीद है सबसे बड़ा बदलाव यह है की इस बार 12 की 14 राउंड खेले जाएँगे ,मतलब सबसे पहले 7.5 अंक बनाने वाला खिलाड़ी विजेता घोषित कर दिया जाएगा । दूसरा बदलाव समय को लेकर हुआ है इस बार दोनों खिलाड़ियों को पहली 40 चाले चलने के लिए 120 मिनट दिये जाएँगे जबकि उसके बाद अगली चाल चलने के लिए 60 मिनट और दिये जाएँगे ,बदलाव यह है की इस बार इसमें प्रति चाल 30 सेकंड का अतिरिक्त समय सिर्फ 60 चाल के बाद ही जुड़ेगा ,60 चाले होने के बाद 15 मिनट और 30 सेकंड का प्रति चाल अतिरिक्त समय मिलेगा ।

PunjabKesari

टाईब्रेक – अगर 14 क्लासिक मैच के बाद भी स्कोर 7-7 से बराबर रहा तो फिर पहले 25+10 मिनट के चाल रैपिड से परिणाम निकाला जाएगा इस पर भी मैच ड्रॉ रहने पर 3+2 मिनट के 2 ब्लिट्ज़ मिनी मैच खेले जाएँगे और यह मिनी मैच अधिकतम पाँच होंगे इस दौरान अगर कोई जीत गया तो वही विजेता होगा और इसके बाद भी परिणाम ना आने पर एक सड्न डैथ ( अरमागोदेन ) खेलकर परिणाम निकाला जाएगा ।        


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Niklesh Jain

Related News

Recommended News