विश्व कप से पहले ध्यान ‘अनुकूलनशीलता'' पर : अर्शदीप सिंह

punjabkesari.in Thursday, Sep 29, 2022 - 02:50 PM (IST)

तिरुवनन्तपुरम : भारत के युवा तेज गेंदबाज अर्शदीप सिंह ने कहा है कि अगले महीने ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी20 विश्व कप से पहले टीम का ध्यान मुख्यत:‘अनुकूलनशीलता'पर है। अर्शदीप ने बुधवार को यहां मैच के बाद संवाददाताओं से कहा, 'अनुकूलनशीलता हमारी टीम का बड़ा मकसद है। हमारा लक्ष्य टीम की परिस्थितियों और मांगों के अनुकूल खेलना है, चाहे परिस्थितियां जैसी भी हों। जब हम वहां (ऑस्ट्रेलिया) जाएंगे तो देखेंगे कि हालात कैसे हैं। मैं अच्छा प्रदर्शन करने के लिए उत्सुक हूं।' 

अर्शदीप (3/32) ने दीपक चाहर (2/24) के साथ मिलकर दक्षिण अफ्रीका को पहले टी20 में 106/8 के स्कोर पर रोककर भारत की जीत की नींव रखी। इसके बाद सूर्यकुमार यादव और लोकेश राहुल ने अर्द्धशतक जड़कर भारत को 16.4 ओवर में 107 रन के लक्ष्य तक पहुंचाया। अर्शदीप ने विश्व कप की तैयारी के बारे में कहा, 'हम अभ्यास सत्र में सभी क्षेत्रों को छूने और मैदान पर अपनी सभी योजनाओं को अमल में लाने की कोशिश कर रहे हैं। आज पावरप्ले में अच्छी गेंदबाजी दिखाने का एक अच्छा मौका था और हम आने वाले दिनों में अछ्वुत चीजें करने की उम्मीद कर रहे हैं।' 

बाएं हाथ के तेज गेंदबाज अर्शदीप टी20 विश्व कप के लिए भारत की डेथ ओवर योजनाओं का हिस्सा हैं, लेकिन कंडीशनिंग-संबंधी कार्य के लिए राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (एनसीए) जाने के कारण ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीन मैचों की टी20 श्रृंखला का हिस्सा नहीं बन पाए थे। अर्शदीप ने एनसीए में बिताए गए समय के बारे में कहा, 'पिछले 10 दिनों का उद्देश्य तरोताजा होना और मजबूती के साथ वापस आना था जो मेरी गेंदबाजी में मेरी मदद करेगा। मैं वास्तव में तरोताजा महसूस कर रहा हूं और मैदान पर अच्छी चीजें करने के लिए उत्सुक हूं।' 

अर्शदीप ने जसप्रीत बुमराह और भुवनेश्वर कुमार की अनुपस्थिति में नयी गेंद से गेंदबाजी करते हुए अपने पहले ही ओवर में पांच गेंदों में तीन विकेट लिए, जिससे दक्षिण अफ्रीका ने अपने आप को 8/4 के स्कोर पर पाया। दक्षिण अफ्रीका अर्शदीप के झटकों से उभर नहीं सकी और अंतत: आठ विकेट से मैच हार गई। इस साल जुलाई में इंग्लैंड दौरे पर पदार्पण करने वाले अर्शदीप ने कहा कि वह हमेशा चयन की परवाह किए बिना मैदान पर अपना सर्वश्रेष्ठ देने का प्रयास करते हैं। 

उन्होंने कहा, 'उन्होंने मुझसे आईपीएल के अंत में कहा कि मैं ‘योजना' का हिस्सा हूं, मुझे लगता है कि मुझे जो भी अवसर मिले मैंने उनमें अच्छा प्रदर्शन किया। यही मेरा काम है, और मैं चयन के बारे में ज्यादा नहीं सोचता।' अर्शदीप ने कहा, 'जल्दी विकेट लेना हमेशा एक अच्छा एहसास होता है। योजना वास्तव में सरल थी। गेंद स्विंग कर रही थी और मुझे बस उसे सही जगहों पर पिच करना था।' 

उन्होंने दूसरे छोर से दबाव बनाए रखने के लिए अपने वरिष्ठ साथी चाहर को भी श्रेय दिया। अर्शदीप ने कहा, 'हम हर प्रकार की स्थिति में अभ्यास करते हैं, हमारा काम परिस्थितियों के अनुकूल होना और टीम के लिए अच्छा प्रदर्शन करना है। हमने एक जोड़ी के रूप में वास्तव में अच्छा काम किया, इसका बहुत सारा श्रेय डीसी भाई (दीपक चाहर) को जाता है।' 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Sanjeev

Related News

Recommended News