ICC प्रमुख ने दिया बड़ा बयान, IPL की तर्ज पर होना चाहिए टी20 विश्व कप का आयोजन

4/22/2021 10:19:35 PM

नई दिल्ली : मौजूदा इंडियन प्रीमियर लीग में भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) द्वारा इस्तेमाल किया जा रहा दो शहरों में मैचों के आयोजन का प्रारूप अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) अक्टूबर-नवंबर में देश में होने टी20 विश्व कप के दौरान अपना सकता है। आईसीसी के जैविक रूप से सुरक्षित माहौल के प्रमुख डेव मस्कर का ऐसा मानना है। आईसीसी की एक टीम 26 अप्रैल को भारत का दौरा करके चर्चा करेगी और इस वैश्विक प्रतियोगिता से जुड़े सभी पहलुओ के संदर्भ में इंतजामों का निरीक्षण करेगी।

मस्कर ने संकेत दिया कि आईपीएल में जिस तरह छह आयोजन स्थल (मुंबई, चेन्नई, बेंगलोर, दिल्ली, अहमदाबाद, कोलकाता) है लेकिन एक समय में सिर्फ दो शहरों में मैचों का आयोजन हो रहा है, उसी तरह के प्रारूप को टी20 विश्व कप के लिए हरी झंडी दी जा सकती है। बीसीसीआई 16 टीमों के टी20 विश्व कप के लिए नौ शहरों की सूची तैयार की है जिसमें दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, चेन्नई, अहमदाबाद, हैदराबाद, बेंगलोर, लखनऊ और धर्मशाला शामिल हैं।

मस्कर से जब यह पूछा गया कि क्या आयोजन स्थलों की संख्या को घटाया जा सकता है तो उन्होंने कहा, ‘‘जिस तरह आईपीएल का प्रबंधन किया गया, वे एक समय में सिर्फ दो स्थलों का इस्तेमाल कर रहे हैं। आप एक समय में आठ स्थलों पर आयोजन नहीं कर रहे हो। आईपीएल अगर दो स्थलों के मॉडल के साथ कर सकता है तो यह स्पष्ट तौर पर हमारे लिए समझने के लिए अच्छी शुरुआत है कि हम किस तरह पुरुष टी20 विश्व कप का आयोजन कर सकते हैं।

मस्कर ने स्वीकार किया कि द्विपक्षीय श्रृंखला के लिए जैविक रूप से सुरक्षित माहौल तैयार करना कई टीमों के टूर्नामेंट या फ्रेंचाइजी लीग के लिए ऐसा करने से कहीं अधिक आसान है। मस्कर ने कहा कि जिस तरह भारत में आईपीएल का आयोजन हो रहा है वह संकेत हैं कि दूसरी लहर के दौरान कोविड-19 मामलों में तेजी के इजाफे के बीच आगामी दिनों में चीजें कैसी होंगी। मैं यह देखकर मुग्ध हूं कि आगामी हफ्तों में भारत में आईपीएल कैसे काम करता है। हम इंतजामों का जायजा रहने के लिए 26 अप्रैल को भारत जा रहे हैं और इसे लेकर बीसीसीआई के संपर्क में हैं। यह हमारी प्राथमिकता सूची में शीर्ष पर है।

मस्कर को हालांकि भरोसा है कि भारत और न्यूजीलैंड के बीच साउथम्पटन में 18 से 22 जून को होने वाले विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल के आयोजन में अधिक दिक्कत नहीं आएगी क्योंकि ब्रिटेन का पिछले साल से जैविक रूप से सुरक्षित माहौल में बड़े टूर्नामेंटों के आयोजन का रिकॉर्ड काफी अच्छा है। उन्होंने कहा, ‘‘हम अब भी इस प्रक्रिया पर बात कर रहे हैं कि विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल के लिए जैविक रूप से सुरक्षित माहौल कैसा होगा, यह जून में सरकार की नीति पर निर्भर करेगा।


Content Writer

Raj chaurasiya

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static