इंजमाम बोले: एशेज से भी ज्यादा पंसद की जाती थी भारत-पाक सीरीज, बताई अपनी ख्वाहिश

6/10/2021 5:47:28 PM

स्पोर्ट्स डेस्क : पाकिस्तान के पूर्व कप्तान इंजमाम-उल-हक ने भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय क्रिकेट सीरीज को फिर से शुरू करने की कामना की है। इस 51 वर्षीय पूर्व खिलाड़ी ने कहा कि भारत-पाकिस्तान सीरीज का एशेज की तुलना में बहुत अधिक पसंद किया गया था और खिलाड़ियों की बेहतरी के लिए द्विपक्षीय सीरीज फिर से शुरू होनी चाहिए। 

जब भारत ने 2004 में एक ऐतिहासिक श्रृंखला के लिए पाकिस्तान का दौरा किया तो इंजमाम कप्तान थे। सौरव गांगुली के नेतृत्व में भारत ने वनडे और टेस्ट दोनों सीरीज में विजयी प्राप्त की थी। हालांकि अगले वर्ष पाकिस्तान ने भारत का दौरा किया और टेस्ट सीरीज़ ड्रॉ करते हुए भारत को वनडे में हरा दिया था। पिछली बार दोनों टीमों ने 2012-13 में द्विपक्षीय श्रृंखला खेली थी जिसमें पाकिस्तान ने तीन मैचों की एकदिवसीय सीरीज में भारत को 2-1 से हराया था। 

इंजमाम ने कहा, भारत-पाकिस्तान श्रृंखला को एशेज की तुलना में बहुत अधिक देखा गया था और लोगों ने हर पल का भरपूर आनंद लिया। खेल और खिलाड़ियों की बेहतरी के लिए एशिया कप तथा भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय सीरीज होना जरूरी है। महान बल्लेबाज याद करते हैं कि कैसे द्विपक्षीय सीरीज युवाओं के लिए वरिष्ठ खिलाड़ियों से सलाह लेने का एक बड़ा अवसर हुआ करती थी। 

पूर्व पाकिस्तानी कप्तान ने कहा, जब हम एक-दूसरे के खिलाफ खेलते थे तो यह बहुत अच्छा एहसास होता था। उन द्विपक्षीय सीरीज में युवा क्रिकेटरों के लिए सीनियर खिलाड़ियों से एक-दो चीजें सीखने का मौका भी मिलता था। सचिन तेंदुलकर हों या सौरव गांगुली, मोहम्मद अजहरुद्दीन या जावेद मियांदाद, युवा उनके पास जा सकते थे और अपना दिमाग लगा सकते थे। इंजमाम ने कहा, यह अपने खेल में सुधार करने का एक शानदार मौका था। 

इंजमाम ने आगे कहा, ऑन-फील्ड प्रतिद्वंद्विता तीव्र थी लेकिन दिन के अंत में खिलाड़ियों ने एक-दूसरे का सम्मान किया और भाईचारा साझा किया। मेरी तो बड़ी ख्वाहिश है के ये चीज दोबारा शुरु हो जाए (भारत-पाकिस्तान सीरीज)। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Sanjeev

Recommended News

static