IND v NZ : मैच के बाद कप्तान विराट कोहली, अश्विन, मयंक और जयंत ने दिया यह बयान

punjabkesari.in Monday, Dec 06, 2021 - 01:01 PM (IST)

मुंबई : भारतीय कप्तान विराट कोहली ने न्यूजीलैंड से दूसरा टेस्ट 372 रन और सीरीज 1-0 से जीतने के बाद कहा कि यह ऐसा प्रदर्शन है जो हम पिछले लंबे समय से करते आ रहे हैं। कानपुर टेस्ट नजदीकी गया था लेकिन यह बहुत शानदार टेस्ट रहा हमारे लिए। 

विराट ने मैच समाप्त होने के बाद कहा, ‘कानपुर में विरोधी टीम ने अच्छा मैच ड्रॉ कराया। वहां पिच पांचवें दिन की तरह बर्ताव नहीं कर रही थी, गेंदबाजों ने पूरी कोशिश की थी। लेकिन यहां पर अच्छा विकेट था, टर्न था और बाउंस थी, जिसकी वजह से गेंदबाजों को अपना काम करने में मुश्किल नहीं आई। 

भारतीय टेस्ट कप्तान ने कहा, हम सभी देश की सेवा कर रहे हैं, पहले रवि भाई थे, अब राहुल भाई हैं। हम नए नेतृत्वकर्ता बनाना चाहते हैं, हम ऐसे खिलाड़ी बनाना चाहते हैं, जो आगे आकर अपना काम करें। कल को मैं कप्तान नहीं रहूंगा, कल को राहुल भाई कोच नहीं रहेंगे, लेकिन हमारा लक्ष्य यही है कि भारतीय क्रिकेट शिखर पर पहुंचे। विराट ने कहा, ‘हमने साउथ अफ्रीका में पिछली बार अच्छा किया था। हम समझ चुके हैं। विदेश में हम पिछले कुछ सालों से अच्छा करते आ रहे हैं। अब मौका है कि साउथ अफ्रीका में एक अच्छा क्रिकेट खेला जाए। 

प्लेयर ऑफ द सीरीज बने अश्विन ने कहा, ‘इस पिच पर मजा आया गेंदबाजी करके। आखिरी सेशन में यहां पर रन बनाना आसान हो जाता था, यह विकेट धीमी हो जाती थी। लेकिन इस पिच पर बाउंस था, टर्न थी, मुझे बहुत मजा आया यहां पर गेंदबाजी करके। जो भी एजाज ने किया है वह शानदार था। लोग सोचते हैं कि वानखेड़े में गेंद स्पिन हो रही थी, लेकिन आपको सही तरह से गेंद को पकड़ना होगा, सीम पर गेंद गिरानी होगी, इसीलिए यह बहुत मुश्किल था। यह उनकी बड़ी उपलब्धि है। 

उन्होंने कहा, जयंत के साथ मेरे 2014 से संबंध हैं। वह जानता है कि उसको क्या करना है। अक्षर के साथ मैंने पंजाब किंग्स और दिल्ली कैपिटल्स में खेला है। लेकिन आपको अनुभव से सीखना होता है। स्पिन बॉलिंग आटर् है और उम्मीद है कि अक्षर आगे जाकर बहुत कुछ सीखेगा। अब साउथ अफ्रीका का चैलेंज है। हम इसके लिए तैयार हैं, हम चाहते हैं कि विराट कोहली और पुजारा वहां जाकर रन बनाए। 

प्लेयर ऑफ द मैच बने मयंक अग्रवाल ने कहा, ‘इतना अच्छा खेलकर अच्छा लगा। यह मेरे लिए खास है। कानपुर से मैंने यहां पर कुछ भी अलग करने की कोशिश नहीं की। मैं बस अच्छी गेंद को सम्मान देना चाहता था और खराब गेंद पर रन बनाना चाहता था। मैं रन बनाने की गारंटी तो नहीं दे सकता, लेकिन मैं कोशिश करता रहूंगा। राहुल भाई ने कहा था किसीरीज के ?बीच में तकनीक पर बात नहीं की जा सकती है, बस तुम अपने प्लान पर रहो। 

मयंक ने कहा, सुनील गावस्कर सर ने बस कहा था कि बाएं कंधे को थोड़ा पीछा रखकर खेलो। यह अच्छा है कि हम विदेश जा रहे हैं और अपनी टीम के लिए मैच जीत रहे हैं। यही कोशिश हमारी साउथ अफ्रीका में भी रहेगी। बर्थडे ब्वॉय श्रेयस अय्यर ने कहा, ‘यह यादगार सीरीज रही मेरे लिए। मैं अपना पहला मैच याद रखूंगा। टीम अच्छी थी। मैं टीम में अपने स्थान के लिए नहीं सोचता हूं, कई सारे खिलाड़ी अच्छी लय में हैं। राहुल भाई टीम में आत्मविश्वास देते हैं। मैंने उनके साथ इंडिया ए से शुरुआत की थी। वह अब भारतीय टीम में हैं और बहुत अच्छा काम कर रहे हैं। मैं उनके साथ काम करके काफी खुश हूं। एक खिलाड़ी के तौर पर जो चाहिए होता है वह उपलब्ध कराते हैं। 

जयंत यादव ने कहा, ‘यह गेंदबाजी के लिए अच्छी विकेट थी। नमी थी विकेट था, मैंने अच्छी जगह पर गेंद करने की कोशिश की। वानखेड़े और मुंबई से मेरा अच्छा नाता रहा है। पहले मैंने यहां पर शतक लगाया और अब यहां पर चार विकेट लिए। अश्विन भाई का दिमाग पढ़ना काफी अच्छा रहता है। आप उसको अपने गेम में लाना चाहते हैं। यह काफी अच्छा रहता है। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Sanjeev

Related News

Recommended News