IND vs BAN : श्रृंखला में बने रहने के लिए दूसरे वनडे में बड़े खिलाड़ियों से उम्मीद

punjabkesari.in Tuesday, Dec 06, 2022 - 04:30 PM (IST)

मीरपुर : भारतीय टीम बांग्लादेश के खिलाफ तीन मैचों की श्रृंखला के दूसरे एकदिवसीय में बुधवार को यहां मैदान में उतरेगी तो इस करो या मरो के मैच में उसे बड़े खिलाड़ियों से बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद होगी। बांग्लादेश ने लक्ष्य का पीछा करते हुए श्रृंखला के पहले मैच में आखिरी विकेट के लिए 50 से अधिक रनों की अटूट साझेदारी कर शानदार जीत दर्ज की। भारतीय गेंदबाज पुछल्ले बल्लेबाजों को आउट करने में विफल रहे लेकिन टीम को उनसे ज्यादा निराश शीर्ष क्रम के दिग्गज बल्लेबाजों ने किया। 

भारतीय टीम ने पिछली बार 2015 में बांग्लादेश में द्विपक्षीय श्रृंखला खेली थी जब महेंद्र सिंह धोनी के नेतृत्व में टीम तीन मैचों की श्रृंखला 1-2 से हार गई थी और एकमात्र जीत तीसरे मैच में मिली थी। स्पिनर शाकिब अल हसन और मेहदी हसन मिराज एक बार फिर भारतीय बल्लेबाजों पर 11 से 40 ओवर के बीच शिकंजा कसे रखते हैं तो शेर-ए-बांग्ला स्टेडियम में इतिहास खुद को दोहरा सकता है। इस दौरान लोकेश राहुल को छोड़कर सभी भारतीय बल्लेबाजों ने संघर्ष किया। राहुल ने 70 गेंदों पर 73 रन की पारी खेली। 

वनडे विश्व कप में अभी भी 10 महीने बाकी हैं लेकिन यह अभी तक स्पष्ट नहीं है कि भारतीय टीम का दृष्टिकोण क्या होगा। भारतीय टीम पिछले कुछ समय से बेखौफ होकर बल्लेबाजी करने की बात कर रही है लेकिन इस योजना को कम मैचों मे ही आजमाया गया है। मीरपुर की पिच बल्लेबाजी के लिए अच्छी नहीं थी, लेकिन यह इतनी बुरी भी नहीं थी कि इसमें सिर्फ 186 रन बनाये जाये। इस श्रृंखला के लिए शुभमन गिल और संजू सैमसन जैसे युवाओं को आराम देने का तत्कालीन चयन समिति का निर्णय चौंकाने वाला रहा है। 

चयनकर्ताओं के पूर्व अध्यक्ष चेतन शर्मा द्वारा दिया गया तर्क यह था कि न्यूजीलैंड दौरे के बाद इन खिलाड़ियों को विश्राम दिया गया है। भारतीय शीर्ष क्रम के खिलाड़ियों के साथ मुख्य समस्या यह है कि वह शुरुआत में बहुत ज्यादा डॉट गेंद खेल रहे हैं। बांग्लादेश के खिलाफ मैच में भारतीय टीम ने 42 ओवर की बल्लेबाजी में लगभग 25 ओवर डॉट गेंद खेली। बाकी के आठ ओवर को भी जोड़ दे तो टीम ने लगभग 200 गेंदों पर एक भी रन नहीं बनाया। आधुनिक समय के क्रिकेट में जब इंग्लैंड हर तरह से सभी प्रारूपों में आक्रामक रवैया अपना रहा है तब भारतीय टीम एक कदम आगे और चार पीछे ले जा रही है। 

राहुल को विकेटीकीपिंग का जिम्मा सौंप कर टीम ने लचीलापन रूख अपनाने की जगह यह सुनिश्चित करने की कोशिश की कि राहुल और धवन दोनों को विश्व कप के अंतिम एकादश में कैसे फिट किया जाए। भारत के तेजतर्रार खिलाड़ियों में शामिल सैमसन को इस श्रृंखला के लिए भी नहीं चुना गया था और अपने पिछले एकदिवसीय में 93 रन बनाने वाले इशान किशन विशेषज्ञ कीपर-बल्लेबाज होने के बावजूद बेंच पर थे। रजत पाटीदार और राहुल त्रिपाठी टीम में चुने गये हैं लेकिन यह अभी भी स्पष्ट नहीं है कि टीम प्रबंधन इन युवाओं का इस्तेमाल कैसे करेगा। कोच राहुल द्रविड़ और और कप्तान रोहित शर्मा अगर कोई कड़ा कदम नहीं उठाते हैं तो टीम को फिर से संघर्ष करना पड़ सकता है। 

टीम

भारत : रोहित शर्मा (कप्तान), लोकेश राहुल (उप-कप्तान और विकेटकीपर), शिखर धवन, विराट कोहली, श्रेयस अय्यर, इशान किशन (विकेटकीपर), शाहबाज अहमद, अक्षर पटेल, दीपक चाहर, मोहम्मद सिराज, कुलदीप सेन, शार्दुल ठाकुर, उमरान मलिक, वाशिंगटन सुंदर, राहुल त्रिपाठी, रजत पाटीदार। 

बांग्लादेश : लिटन दास, अनामुल हक बिजॉय, शाकिब अल हसन, मुश्फिकुर रहीम, अफीफ हुसैन, यासिर अली चौधरी, मेहदी हसन मिराज, मुस्तफिजुर रहमान, तस्कीन अहमद, हसन महमूद, इबादत हुसैन चौधरी, नासुम अहमद, महमूद उल्लाह, नजमुल हुसैन शान्तो , काजी नुरुल हसन सोहन, शोरफुल इस्लाम। 

समय : मैच भारतीय समयानुसार सुबह 11:30 बजे से होगा। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Sanjeev

Related News

Recommended News