जंगल बना पटना का मशहूर मोइनुल हक स्टेडियम, गांगुली भी खेल चुके हैं यहां मैच

8/23/2020 7:12:44 PM

पटना : आईसीसी विश्व कप मैच और सैकड़ों घरेलू क्रिकेट मैच आयोजित कर चुका पटना का प्रसिद्ध मोइनुल हक़ स्टेडियम इस समय जंगल जैसा बन चुका है जहां मैदान और स्टैंड्स को पूरी तरह ऊंची-ऊंची घासों ने ढक दिया है। क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ बिहार के सचिव आदित्य वर्मा ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष सौरभ गांगुली को पत्र लिखकर मोइनुल हक़ स्टेडियम की खराब हालत की तरफ उनका ध्यान दिलाया है। 

उन्होंने मैदान की तस्वीरें भी साझा की हैं जिसमें मोइनुल हक़ स्टेडियम पूरी तरह जंगल नजर आ रहा है। पूरे मैदान में बड़ी-बड़ी घास उगी हुई है, पिच का कोई अता-पता नहीं है, स्टैंड्स की हालत और खराब है जहां जंगली खत-पतवार उग गई है और दीवारों पर जगह-जगह काई जमी हुई है। मोइनुल हक़ स्टेडियम वही मैदान है जहां 1996 के आईसीसी विश्व कप का केन्या और जिम्बाब्वे का मैच आयोजित हुआ था। यहां रणजी ट्रॉफी, देवधर ट्रॉफी, विल्स, दिलीप ट्रॉफी, महिला टेस्ट मैच, भारत और पाकिस्तान अंडर-19 टेस्ट मैच आयोजित हो चुके हैं। 

गांगुली भी अपने खेलने के दिनों में इस मैदान पर खेल चुके हैं। पिछले साल इस मैदान पर रणजी, अंडर-19 और अंडर-23 के मैच आयोजित हुए थे। आदित्य ने गांगुली को अपने पत्र में लिखा कि बिहार क्रिकेट एसोसिएशन बीसीसीआई से सम्बद्ध है और उसे बीसीसीआई से भारी अनुदान मिलता है लेकिन बिहार क्रिकेट एसोसिएशन के मौजूदा पदाधिकारियों ने आधारभूत ढांचे के विकास के बजाये अन्य गतिविधियों पर इस पैसे का इस्तेमाल किया है जिसका जीता -जागता उदहारण मोइनुल हक़ स्टेडियम की मौजूदा स्थिति है। 

खिलाड़ियों को उनकी मैच फीस, टीए-डीए नहीं मिला है। उन्होंने बीसीसीआई से मोइनुल हक़ स्टेडियम की मौजूदा हालत पर गौर करने का अनुरोध किया जिससे बोडर् को खुद अंदाजा हो जाएगा कि बिहार क्रिकेट की कितनी खराब हालत है। 
 


Sanjeev

Related News