शेन वार्न के सपने में आए थे सचिन, बॉल ऑफ द सेंचुरी फेंकने के लिए हुए थे मशहूर

punjabkesari.in Friday, Mar 04, 2022 - 08:04 PM (IST)

खेल डैस्क : ऑस्ट्रेलिया के पूर्व लेग स्पिनर शेन वॉर्न ने अपने 15 साल के क्रिकेट करियर में कई बढ़ी उपलब्धियां अपने नाम की। वह टेस्ट क्रिकेट में सर्वाधिक विकेट लेने वाले प्लेयरों में दूसरे स्थान पर काबिज है। वार्न ने अपने करियर की शुरूआत भारत के खिलाफ 1992 में सिडनी टेस्ट से की थी। वनडे क्रिकेट में पदार्पण उन्होंने 1993 में न्यूजीलैंड के खिलाफ किया था। वॉर्न ने टेस्ट क्रिकेट में रवि शास्त्री को अपना पहला शिकार बनाया था। वार्न ने इंग्लैंड के खिलाफ सर्वाधिक 195, न्यूजीलैंड के खिलाफ 103 और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 130 टेस्ट विकेट चटकाए।

सचिन आए थे सपने में

वॉर्न ने अपनी गेंदों से दुनिया के लगभग हर बल्लेबाज को खासा परेशान किया था, लेकिन भारत के सचिन तेंदुलकर ने 1998 में शरजाह में उनकी गेंदों की ऐसी पिटाई की थी कि सचिन उनके सपने में नजर आने लगे थे। यह बात उन्होंने खुद बताई थी। उन्होंने कहा था कि ऐसा लगता है कि वह (सचिन) उनके सपने में भी छक्के लगा रहे हैं। शरजाह में खेले गए कोका कोला कप में सचिन के शानदार खेल से भारत ने ट्राई सीरीज जीती थी। इसमें भारत-ऑस्ट्रेलिया के अलावा न्यूजीलैंड की टीम भी थी। फाइनल में सचिन ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 134 रन की पारी खेली थी।

 

वॉर्न ने लिया था ‘बर्थडे ब्वाय’ तेंदुलकर से आटोग्राफ

Sachin tendulkar, Shane Warne, Shane warne died, cricket news in hindi, sports news, Ball of the century, शेन वार्न, सचिन, बॉल ऑफ द सेंचुरी
भारत ने तेंदुलकर के दम पर शारजाह में तब त्रिकोणीय श्रृंखला जीती थी। तेंदुलकर मैन ऑफ द सीरीज और फाइनल के मैन ऑफ द मैच बने थे लेकिन अपने जन्मदिन पर उन्हें सबसे बड़ा पुरस्कार किसी और ने नहीं बल्कि स्वयं वॉर्न ने दिया था। उन्होंने अपनी शर्ट निकाली और तेंदुलकर को उस पर आटोग्राफ देने के लिए कहा। यह उस टूर्नामेंट का यादगार क्षण बन गया था। 

बॉल ऑफ द सेंचुरी फेंकी
शेन वॉर्न ने 4 जून 1993 में इंग्लैंड के खिलाफ यह गेंद फेंकी जो क्रिकेट इतिहास की सबसे खतरनाक गेंद मानी जाती है। उनके सामने तब बल्लेबाज माइक गेटिंग थे। गेटिंग 4 रन बनाकर क्रीज पर थे। वॉर्न की पहली गेंद लेग स्टंप के काफी बाहर पिच हुई और ऐसा लग रहा था कि गेंद वाइड होगी। गेटिंग ने इसे खेलने का प्रयास नहीं किया। लेकिन गेंद तेजी से टर्न लेते हुए उनका ऑफ स्टंप ले उड़ी। यह गेंद देखकर सब हैरान हो गए।

एक हजार विकेट किए पूरे
ऑस्ट्रेलिया के इस महान गेंदबाज ने साल 2007 में क्रिकेट को अलविदा कह दिया था। शेन वॉर्न विश्व के ऐसे दूसरे गेंदबाज हैं, जिसने टेस्ट और वनडे मैचों को मिलाकर 1000 विकेटों के आंकड़े को छुआ है। इस सूची में पहला नंबर मुथैया मुरलीधरन का है। वॉर्न के नाम टेस्ट में 708 लेने का रिकॉर्ड है, वहीं वनडे में उन्होंने 293 विकेट झटके थे।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Jasmeet

Related News

Recommended News