ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करना एकमात्र लक्ष्य: अर्चना कामत

10/25/2020 6:42:41 PM

नई दिल्ली : वर्ष 2018 के युवा ओलंपिक की सेमीफाइनलिस्ट टेबल टेनिस खिलाड़ी अर्चना कामत का एकमात्र लक्ष्य अगले वर्ष होने वाले टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करना है। अर्चना कामत टारगेट ओलंपिक पोडियम स्कीम (टॉप्स) विकास समूह का एक हिस्सा हैं और 2018 यूथ ओलंपिक की सेमीफाइनलिस्ट हैं। उन्हें राष्ट्रीय प्रक्षिक्षण शिविर में शामिल किया गया है। भारतीय खेल प्राधिकरण ने टेबल टेनिस के लिए राष्ट्रीय प्रशिक्षण शिविर को मंजूरी दे दी है। यह शिविर सोनीपत में 28 अक्टूबर से 8 दिसंबर तक आयोजित होगा।

शिविर के माहौल में वापस आकर और लंबे समय के बाद अपने साथी खिलाड़यिों से मिलने पर खुशी व्यक्त करते हुए अर्चना ने कहा, ‘‘मैं बेंगलुरू में घर पर ही ट्रेनिंग कर रही थी लेकिन एक ऐसे शिविर के माहौल में वापसी की उम्मीद कर रही थी, जहां मैं लंबे समय के बाद भारतीय टीम के अपने साथी खिलाड़यिों से मिलकर उनके साथ खेल सकूं।' कामत ने कहा कि उनका अंतिम लक्ष्य ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करना और उनमें खेलना है। फिलहाल वर्तमान में वह सिफर् एक समय में एक मैच की सोच पर ध्यान केंद्रित कर रही हैं।

इस शिविर में 11 खिलाड़ी (5 पुरुष, 6 महिला) और चार सहायक कर्मचारी शामिल होंगे। भारतीय टेबल टेनिस महासंघ सोनीपत के दिल्ली पब्लिक स्कूल में इस शिविर का आयोजन करेगा। शिविर के लिये लगभग 18 लाख रुपये स्वीकृत किये गये हैं। इसमें हवाई यात्रा और चिकित्सा व्यय भी शामिल है। शिविर में शामिल होने वाले खिलाड़ी स्कूल में मौजूद आवासीय परिसर में रहेंगे। खेल गतिविधियों को फिर से शुरू करने के लिए भारतीय खेल प्राधिकरण द्वारा स्थापित मानक संचालन प्रक्रियाओं का पालन किया जायेगा। इस वर्ष मार्च में कोरोना वायरस के कारण देशव्यापी पूर्ण बंदी की घोषणा के बाद टेबल टेनिस के लिए यह पहला राष्ट्रीय शिविर आयोजित किया जाएगा। 

राष्ट्रमंडल खेलों के चार बार के स्वर्ण पदक विजेता अचंत शरत कमल पुरुषों के प्रशिक्षण समूह का हिस्सा होंगे। उनके साथ मानुष शाह, मानव ठक्कर, सुधांशु ग्रोवर और जुबिन कुमार भी प्रशिक्षण शिविर में शामिल होंगे। महिला प्रशिक्षण समूह में अनुषा कुटुम्बले, दीया चितले, सुतीर्था मुखर्जी, अर्चना कामत, तकमी सरकार और कौशानी नाथ भाग लेंगी। 


Sanjeev

Related News