राष्ट्रीय खेल पुरस्कार: शरत कमल को खेल रत्न से सम्मानित किया गया

punjabkesari.in Wednesday, Nov 30, 2022 - 06:22 PM (IST)

नई दिल्ली, 30 नवंबर (भाषा) टेबल टेनिस के दिग्गज खिलाड़ी अचंता शरत कमल को बुधवार को यहां राष्ट्रपति भवन में राष्ट्रीय खेल पुरस्कार समारोह में राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने देश के सर्वोच्च खेल सम्मान मेजर ध्यानचंद खेल रत्न से सम्मानित किया।


शरत खेल रत्न हासिल करने वाले एकमात्र खिलाड़ी रहे जबकि बैडमिंटन खिलाड़ी लक्ष्य सेन और एचएस प्रणय, महिला मुक्केबाज निकहत जरीन, ट्रैक एवं फील्ड खिलाड़ियों एल्धोस पॉल और अविनाश साबले सहित 25 खिलाड़ियों को अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया गया।


एक विशेष समारोह में पिछले कुछ वर्षों में भारतीय खेलों के शीर्ष खिलाड़ियों को उनकी उपलब्धियों के लिए सम्मानित किया गया।


यह आयोजन पारंपरिक रूप से हर साल 29 अगस्त को हॉकी के महान खिलाड़ी मेजर ध्यानचंद की जयंती के उपलक्ष्य में आयोजित किया जाता है लेकिन पिछले साल भी यह कार्यक्रम किसी अन्य तारीख पर आयोजित किया गया था।


समारोह का मुख्य आकर्षण शरत थे जिन्होंने दरबार हॉल में मौजूद चुनिंदा गणमान्य व्यक्तियों की तालियों की गड़गड़ाहट के बीच अपना खेल रत्न पुरस्कार प्राप्त किया।


खेल रत्न पिछले चार वर्षों की अवधि में एक खिलाड़ी को शानदार और सबसे उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए दिया जाता है। इसमें 25 लाख रुपये का नकद पुरस्कार, एक पदक और सम्मान पत्र दिया जाता है। अर्जुन पुरस्कार में 15 लाख रुपये का नकद पुरस्कार, एक कांस्य प्रतिमा और सम्मान पत्र दिया जाता है।

चालीस वर्षीय शरत बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेलों से चार पदक के साथ सबसे सफल भारतीय खिलाड़ी के रूप में लौटे थे। वह मनिका बत्रा के बाद खेल रत्न पाने वाले दूसरे टेबल टेनिस खिलाड़ी हैं।


मिश्रित युगल में एक सोने के तमगे के अलावा शरत ने 16 साल बाद अपना एकल स्वर्ण भी जीता। उन्होंने पहला एकल स्वर्ण 2006 मेलबर्न राष्ट्रमंडल खेलों में जीता था।


शरत ने राष्ट्रमंडल खेलों में कुल मिलाकर 13 पदक जीते हैं। उन्होंने 2018 एशियाई खेलों में दो कांस्य पदक भी जीते थे और अब 2024 पेरिस खेलों में उनकी नजरें ओलंपिक पदक पर हैं।

अर्जुन पुरस्कार विजेताओं के बीच स्टार आकर्षण बैडमिंटन खिलाड़ी लक्ष्य, विश्व चैंपियन मुक्केबाज जरीन, मुक्केबाज अमित पंघाल और त्रिकूद खिलाड़ी पॉल थे। ये सभी बर्मिंघम खेलों के स्वर्ण पदक विजेता हैं।

खेल रत्न राष्ट्रपति द्वारा दिया जाने वाला पहला पुरस्कार था। इसके बाद लाइफटाइम अचीवमेंट श्रेणी में द्रोणाचार्य पुरस्कार दिया गया जो रोहित शर्मा के कोच दिनेश जवाहर लाड, फुटबॉल कोच बिमल प्रफुल्ल घोष और कुश्ती मार्गदर्शक राज सिंह को मिला।

जीवनजोत सिंह तेजा (तीरंदाजी), मोहम्मद अली कमर (मुक्केबाजी), सुमा सिद्धार्थ शिरूर (पैरा निशानेबाजी) और सुजीत मान (कुश्ती) को द्रोणाचार्य पुरस्कार नियमित श्रेणी में दिया गया।


चक्का फेंक खिलाड़ी सीमा पूनिया को राष्ट्रपति ने सबसे पहले अर्जुन पुरस्कार दिया जबकि इसके बाद पॉल, साबले, लक्ष्य, प्रणय और पंघाल सहित अन्य को पुरस्कार मिला।


लाइफटाइम अचीवमेंट के लिए ध्यानचंद पुरस्कार अश्विनी अकुंजी सी (एथलेटिक्स), धर्मवीर सिंह (हॉकी), बीसी सुरेश (कबड्डी) और नीर बहादुर गुरुंग (पैरा एथलेटिक्स) को दिया गया।

बर्मिंघम में शरत के साथ मिलकर मिश्रित युगल का स्वर्ण जीतने वाली श्रीजा अकुला ने इस पल को अविस्मरणीय बताया।


उन्होंने कहा, ‘‘अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित होना मेरे लिए सम्मान की बात है। इस तरह की पहचान मेरे जैसी युवा खिलाड़ी के लिए बहुत प्रेरक है और मैं अपने माता-पिता, सोमनाथ सर और अपने सभी कोच और प्रशिक्षकों को धन्यवाद देना चाहती हूं।’’

इस समारोह में खेल मंत्री अनुराग ठाकुर के साथ खेल राज्य मंत्री निशीथ प्रमाणिक सहित कई अन्य गणमान्य व्यक्ति भी मौजूद थे।


पुरस्कार विजेताओं की सूची इस प्रकार है:
मेजर ध्यानचंद खेल रत्न पुरस्कार 2022: अचंता शरत कमल।

अर्जुन पुरस्कार: सीमा पूनिया (एथलेटिक्स), एल्धोज पॉल (एथलेटिक्स), अविनाश मुकुंद साबले (एथलेटिक्स), लक्ष्य सेन (बैडमिंटन), एचएस प्रणय (बैडमिंटन), अमित (मुक्केबाजी), निकहत जरीन (मुक्केबाजी), भक्ति प्रदीप कुलकर्णी (शतरंज), आर प्रज्ञानानंदा (शतरंज), दीप ग्रेस एक्का (हॉकी), सुशीला देवी (जूडो), साक्षी कुमारी (कबड्डी), नयन मोनी सैकिया (लॉन बाउल), सागर कैलास ओवलकर (मल्लखंब), इलावेनिल वलारिवान (निशानेबाजी), ओमप्रकाश मिथरवाल (निशानेबाजी), श्रीजा अकुला (टेबल टेनिस), विकास ठाकुर (भारोत्तोलन), अंशु (कुश्ती), सरिता (कुश्ती), परवीन (वुशु), मानसी गिरीशचंद्र जोशी (पैरा बैडमिंटन), तरुण ढिल्लों (पैरा बैडमिंटन), स्वप्निल संजय पाटिल (पैरा तैराकी), जर्लिन अनिका जे (बिधर बैडमिंटन)।

द्रोणाचार्य पुरस्कार 2022 नियमित श्रेणी: जीवनजोत सिंह तेजा (तीरंदाजी), मोहम्मद अली कमर (मुक्केबाजी), सुमा सिद्धार्थ शिरूर (पैरा निशानेबाजी), सुजीत मान (कुश्ती)।

द्रोणाचार्य पुरस्कार लाइफटाइम अचीवमेंट श्रेणी: दिनेश जवाहर लाड (क्रिकेट), बिमल प्रफुल्ल घोष (फुटबॉल), राज सिंह (कुश्ती)।

लाइफटाइम अचीवमेंट के लिए ध्यानचंद पुरस्कार 2022: अश्विनी अकुंजी सी (एथलेटिक्स), धर्मवीर सिंह (हॉकी), बीसी सुरेश (कबड्डी), नीर बहादुर गुरुंग (पैरा एथलेटिक्स)।

राष्ट्रीय खेल प्रोत्साहन पुरस्कार 2022: ट्रांसस्टेडिया एंटरप्राइजेज प्राइवेट लिमिटेड, कलिंगा इंस्टीट्यूट ऑफ इंडस्ट्रियल टेक्नोलॉजी, लद्दाख स्की एंड स्नोबोर्ड संघ।

मौलाना अबुल कलाम आजाद ट्रॉफी 2022: गुरु नानक देव विश्वविद्यालय, अमृतसर।

तेनजिंग नोर्गे राष्ट्रीय साहसिक पुरस्कार: नैना धाकड़ (थल साहस), शुभम धनंजय वनमाली (जल साहस), ग्रुप कैप्टन कुंवर भवानी सिंह सम्याल (लाइफ टाइम अचीवमेंट)।


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Related News

Recommended News