चैपल ने कहा- महामारी के कारण अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के कार्यक्रम का पुन: विश्लेषण का मौका मिला

9/26/2021 4:07:34 PM

नई दिल्ली : महान क्रिकेटर इयान चैपल का मानना है कि कोविड-19 महामारी से एकमात्र अच्छी चीज यह निकली है कि क्रिकेट के अव्यवस्थित अंतरराष्ट्रीय कार्यक्रम का विस्तार से पुन: विश्लेषण का मौका मिला है। महामारी को देखते हुए जो अनुपयोगी कार्यक्रम बन रहा है उसके लिए खेल स्वयं जिम्मेदार है। हॉलीवुड के कॉमेडियन स्टेन लॉरेल और ओलिवर हार्डी की यह जानी मानी पंक्ति ‘तुमने एक बार फिर मुझे मुश्किल में फंसा दिया' क्रिकेट के मौजूदा कार्यक्रम पर आसानी से लागू होती है। इन कॉमेडियन के मामले में हार्डी अपने जोड़ीदार लॉरेल पर एक बार फिर उन्हें मुश्किल में डालने का आरोप लगाते हैं।

चैपल ने लिखा कि कोविड-19 महामारी के कारण जो अनुपयोगी कार्यक्रम है उसके लिए क्रिकेट स्वयं जिम्मेदार है। ऐसा लगता है कि किसी की छोड़ी हुई बारूदी सुरंग में विस्फोट हो गया है। न्यूजीलैंड और फिर इंग्लैंड के भी दौरा रद्द करने के बाद पाकिस्तान से सहानुभूति जताते हुए आस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान चैपल ने कहा कि खेल को इस ‘अव्यवस्था' से बाहर निकालने के लिए क्रिकेट समुदाय को एकजुट होने की जरूरत है। अंतरराष्ट्रीय कैलेंडर में कोविड महामारी के कारण लगातार व्यवधान के बाद जिस चीज की जरूरत है वह है थोड़ी सहानुभूति। क्रिकेट के नजरिए से महामारी से एकमात्र अच्छी चीज जो सामने आ सकती है वह कार्यक्रम का विस्तृत पुन: विश्लेषण है।

चैपल ने कहा कि लेकिन इसके लिए क्रिकेट खेलने वाले देशों में अच्छी भावना के साथ एकजुट होना होगा और खेल के सर्वश्रेष्ठ हित में फैसले करने होंगे। लेकिन जैसा कि हमने वर्षों से देखा है, विशेषकर हाल के समय में, ऐसा होने की संभावना उतनी ही है जितनी डोनाल्ड ट्रंप के विनम्रता दिखाने की। इस 78 वर्षीय पूर्व दिग्गज बल्लेबाज का मानना है कि न्यूजीलैंड और इंग्लैंड ने पाकिस्तान के साथ ‘कड़ा' बर्ताव किया। 

उन्होंने कहा कि न्यूजीलैंड के अंतिम समय में पाकिस्तान के साथ टी20 श्रृंखला से हटने के बाद इंग्लैंड ने भी इस देश का पुरुष और महिला टीमों का प्रस्तावित दौरा रद्द कर दिया। पाकिस्तान के साथ हुआ यह बर्ताव कड़ा लगता है विशेषकर यह देखते हुए कि उन्होंने महामारी के बीच अन्य देशों का निस्वार्थ भाव से दौरा किया। अफगानिस्तान जल्द ही टेस्ट खेलने का अपना दर्जा गंवा दिया क्योंकि तालिबान ने महिलाओं को देश में कोई भी खेल खेलने से प्रतिबंधित किया है। उन्होंने कहा, अफगानिस्तान की पुरुष टीम का आस्ट्रेलिया के साथ पहला टेस्ट रद्द कर दिया गया है और संभवत: उनसे टेस्ट खेलने वाले देश का दर्जा छीन लिया जाएगा। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Raj chaurasiya

Recommended News

static