इंग्लैंड के पूर्व कप्तान ने की अपनी ही टीम की आलोचना, कहा, केवल NZ ही जीतने के लिए उत्सुक था

6/7/2021 11:28:54 AM

स्पोर्ट्स डेस्क : इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच लाॅर्ड्स के मैदान में खेला गया पहला टेस्ट मैच ड्रा रहा। इस बात से लेकर इंग्लैंड के पूर्व कप्तान नासिर हुसैन नाराज हैं और इंग्लैंड टेस्ट टीम की आलोना की है। हुसैन ने कहा, उन्हें लगता है कि मेजबान टीम को न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले टेस्ट के अंतिम दिन सुस्त क्रिकेट खेलने के बजाय जीत के लिए जाना चाहिए था। 

PunjabKesari

न्यूजीलैंड द्वारा 169/6 पर दूसरी अपनी पारी घोषित करने के बाद इंग्लैंड को अंतिम 2 सत्रों में मैच जीतने के लिए 273 रनों की आवश्यकता थी। रूट और डोमिनिक सिबली ने रविवार को लॉर्ड्स क्रिकेट ग्राउंड पर इंग्लैंड को ड्रॉ से बाहर निकालने में मदद की लेकिन वह सफल नहीं हो पाए। सिबली ने 207 गेंदों पर 60 रन बनाए, जो वर्ष 2000 के बाद इंग्लैंड के सलामी बल्लेबाज के की सातवीं सबसे धीमी अर्धशतकीय पारी थी। 

एक स्पोर्ट चैनल ने हुसैन के हवाले से कहा, ऐसा लग रहा था कि केवल एक ही पक्ष इसे जीतने के लिए उत्सुक था और इसलिए केन विलियमसन अंत में भी बने रहे। वह 15 ओवर रहते हुए भी हाथ मिला सकता (मैच की समाप्ति) था, लेकिन उसने ऐसा नहीं किया क्योंकि वह सकारात्मक क्रिकेट खेल रहा था। उन्होंने कहा कि मैं समझता हूं कि इंग्लैंड जीत के लिए क्यों नहीं गया, आपको इसे संदर्भ में रखना होगा। उन्होंने अपने आखिरी तीन टेस्ट मैच गंवाए, कोई जोस बटलर नहीं, कोई बेन स्टोक्स नहीं है। 

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान ने कहा कि इंग्लैंड टीम में जीतने का इरादा नहीं था और हाल के खेलों के लिए मेजबान के धीमे दृष्टिकोण को जिम्मेदार ठहराया, जिसमें रूट की अगुवाई वाली टीम ने खुद को हांफते हुए पाया था। हुसैन ने कहा, वे खुद को टेस्ट क्रिकेट में अकसर 20-3 पाते हैं, इसलिए आपको इंग्लैंड की यह टीम कहां है और कहां पहुंचने की कोशिश कर रही है इसकी बड़ी तस्वीर देखनी होगी। उन्होंने कहा, 'मुझे लगता है कि कम से कम जीतने की कोशिश करें, कुछ इरादा दिखाएं और यदि आप चौथे या पांचवें नम्बर परआते हैं तो आप ब्लॉक कर सकते हैं फिर आप कह सकते हैं 'नहीं, हम आगे नहीं जा रहे हैं। 

हुसैन चाहते हैं कि उनकी टीम (इंग्लैंड) न तो ज्यादा आक्रामक और न ही ज्यादा रक्षात्मक क्रिकेट खेले। उन्होंने कहा, 'आक्रामक क्रिकेट खेलने के लिए उनकी बहुत आलोचना हुई, अब वे रक्षात्मक क्रिकेट खेलते हैं, यह एक या दूसरा होना जरूरी नहीं है। उन्होंने कहा, 70 ओवरों में आप दूसरे रास्ते पर जा सकते हैं और फिर अगर आप थोड़ी परेशानी में हैं तो आप इसे वापस खींच सकते हैं। अब गुरुवार 10 जून से दूसरे टेस्ट में इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच आमना-सामना होगा। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Sanjeev

Recommended News

static