मुझे जहर दिया गया था, शाहिद अफरीदी ने पानी की तरह बहा दिया पैसा, पूर्व क्रिकेटर का बड़ा खुलासा

punjabkesari.in Thursday, Mar 23, 2023 - 10:59 PM (IST)

स्पोर्ट्स डेस्क: पाकिस्तान क्रिकेट का विवादों से लंबा नाता है, चाहे पाकिस्तान में क्रिकेट मैचों के दौरान आतंकी हमले के मामले हो या फिर पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड की अंदर की सियास्त पाकिस्तान क्रिकेट हमेशा चर्चा में आ ही जाता है। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड हाल ही में एक बार फिर विवादों में आया था, जब अचानक रमीज राजा को पीसीबी अध्यक्ष की कुर्सी से हटाकर नजम सेठी को यह पद सौंप दिया गया। हालांकि, अब जो पाकिस्तान क्रिकेट में खुलासा हुआ है, उसने पूरी क्रिकेट की दुनिया को हिला के रखा दिया है। यह खुलासा पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेट इमरान नजीर ने किया है, जिनका कहना है कि उन्हें जान से मारने के लिए जहर दिया गया था।

पाकिस्तानी टीम के पूर्व ओपनर इमरान नजीर ने हैरान करने वाला खुलासा करते हुए कहा है कि जब वो अपने करियर के बुलंदियों पर थे, तब उन्हें साजिश के तहत जहर दिया गया था। नजीर एक दशक से अधिक समय तक पाकिस्तान क्रिकेट का हिस्सा रहे हैं। उन्होंने पाकिस्तान टीम की ओर से अंतर्राष्ट्रीय डेब्यू 1999 में किया था। साल 2012 में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने तक उन्होंने पाकिस्तान के लिए 8 टेस्ट और 79 वनडे मैच खेले हैं। संन्यास लेने के लगभग एक दशक बाद नजीर द्वारा किए गए खुलासे ने चारों तरफ हड़कंप ला दिया है।

PunjabKesari

नजीर ने एक पॉडकास्ट के दौरान कहा, "जब मैंने हाल ही में एमआरआई सहित अपना सारा इलाज कराया तो एक बयान जारी किया गया था, जिसमें यह पता चला कि मुझे जहर दिया गया था। ये एक प्रकार धीमा जहर था, ये आपके शरीर में जोड़ों तक पहुंचता है और उन्हें काफी नुकसान पहुंचाता है। पिछले 8-10 वर्षों तक मेरे सारे जोड़ों का इलाज किया गया। मेरे शरीर के सारे जोड़ खराब हो गए थे और इससे मैं लगभग 6-7 साल तक पीड़ित रहा, लेकिन फिर मैंने सिर्फ भगवान से यह प्रार्थना की कि कृप्या मुझे बिस्तर पर मत लाइए और शुक्र है कि ऐसा कभी नहीं हुआ।"

उन्होंने पॉडकास्ट में आगे कहा, "मैं जब घूमता था और जब लोग मुझसे पूछते थे कि तुम ठीक दिख रहे हो तो मुझे उनमें से बहुत से लोगों पर शक होता था, लेकिन मैंने कब और क्या खाया यह मुझे कभी भी पता नहीं चल पाया। क्योंकि, यह जहर तुरंत असर नहीं करता। ये जहर आपको सालों तक मारता है। जिसने भी मेरा साथ ऐसा किया मैंने उसका कभी बुरा नहीं चाहा। बचाने वाला उससे बेहतर है, जो मारना चाहता है।"

शाहिद अफरीदी ने बुरे समय में मेरा साथ दिया

नजीर ने इसके साथ यह भी खुलासा किया कि जब वह बुरे समय से गुजर रहे थे तो पूर्व पाकिस्तानी कप्तान शाहिद अफरीदी उनके साथ एक चट्टान की तरह खड़े रहे और साथ में नजीर ने यह भी बताया कि उनके पास जब इलाज के लिए पैसे खत्म हो गए थे तो अफरीदी ने उन्हें मदद के लिए 40-50 लाख रुपए भी दिए थे।

नजीर ने कहा, "मैंने अपनी बीमारी के इलाज पर अपनी सारी जिंदगी की बचत खर्च कर दी है। अंत में, एक आखिरी इलाज नहीं हो पाया, जिसमें मेरी बहुत बड़ी मदद शाहिद अफरीदी ने की। शाहिद ने मेरी जरूरत के समय मदद की। जब मैं शाहिद भाई से मिला था तो मेरे पास कुछ  नहीं बचा था। एक दिन के भीतर उन्होंने मेरे डॉक्टर के खाते में पैसा डाल दिए। उस शाहिद भाई ने कहा- चाहे कितना भी पैसा चाहिए, मेरा भाई ठीक हो जाना चाहिए। शाहीद ने लगभग 40-50 लाख खर्च किए। "


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Editor

Ramandeep Singh

Related News

Recommended News