धोनी की अपील पर रन आउट से बचे थे इयान बेल, 10 साल बाद चुप्पी तोड़ते हुए दिया बड़ा बयान

5/14/2021 12:35:11 PM

स्पोर्ट्स डेस्क : पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को आईसीसी ने दशक का स्पिरिट ऑफ क्रिकेट अवॉर्ड दिया था। उन्हें ये अवार्ड 2011 भारत-इंग्लैंड टेस्ट सीरीज के दूसरे मैच के लिए मिला जब उन्होंने अपील वापस लेते हुए रन आउट दिए गए इयान बेल को वापस खेलने के लिए मैदान में बुला लिया था। अब 10 साल बाद इस पर इयान बेल ने चुप्पी तोड़ी है और कहा कि उस समय गलती उनसे ही हुई थी। 

बेल ने एक यूट्यूब चैनल पर कहा, इसके लिए धोनी को दशक का स्पिरिट ऑफ गेम अवॉर्ड मिला, लेकिन यह मेरी गलती थी। उन्होंने कहा, मैं शायद उस समय बहुत भूखा रहा होऊंगा, मुझे ऐसा बिल्कुल नहीं करना चाहिए था। 2011 से 2013 के बीच मैं अपने करियर के पीक पर था। हम घर पर और बाहर जीत दर्ज कर रहे थे। हमनें ऑस्ट्रेलिया और भारत में भी टेस्ट सीरीज जीती थी, जो टेस्ट क्रिकेट में करना बहुत मुश्किल है। 

गौर हो कि 2011 भारत-इंग्लैंड सीरीज के दूसरे मैच के तीसरे दिन टी-ब्रेक से पहले इयान बेल और इयोन मोर्गन बल्लेबाजी कर रहे थे। मोर्गन ने गेंद लेग साइड पर मारी और गेंद को बाउंड्री की तरफ जाता देख चौके समझते हुए दोनों बल्लेबाज पवेलियन की ओर लौटने लगे। बाउंड्री लाइन के पास खड़े थे प्रवीण कुमार ने चौका होका और गेंद धोनी की तरफ गेंद फेंकी। धोनी ने समय ना गंवाते हुए गेंद अभिनव मुकुंद की ओर फेंकी और नॉन स्ट्राइकर एंड के बल्लेबाज को रनआउट किया। ऑन-फील्ड अंपायर ने इसके बाद इयान बेल को आउट दे दिया था। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Sanjeev

Recommended News

static