राष्ट्रीय खेल महासंघों ने ओलंपिक से पहले विस्तृत कार्यक्रम तैयार किया होगा: पीटी उषा

punjabkesari.in Thursday, Nov 30, 2023 - 06:06 PM (IST)

नई दिल्ली : भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) की अध्यक्ष पीटी उषा ने गुरुवार को उम्मीद जताई कि सभी राष्ट्रीय खेल महासंघों (एनएसएफ) ने पेरिस खेलों में जाने वाले खिलाड़ियों की ट्रेनिंग सह प्रतियोगिता का खाका तैयार कर लिया होगा क्योंकि उनकी सफलता के लिए ‘उचित योजना बनाना' महत्वपूर्ण है। 

उषा ने प्रेस विज्ञप्ति में कहा, ‘उचित योजना बनाना महत्वपूर्ण है जिससे कि ओलंपिक खेलों से पहले तैयारी के सभी पहलुओं का ध्यान रखा जा सके।' उन्होंने कहा, ‘सभी एनएसएफ ने अगले वर्ष के लिए अंतरराष्ट्रीय अनुभव सह प्रतियोगिता योजना के लिए एक विस्तृत कार्यक्रम तैयार किया होगा।' 

ओलंपिक से पहले डोपिंग उल्लंघन से बचने के लिए आईओए अपने कोर समूह के खिलाड़ियों को डोपिंग रोधिंग नियमों पर शिक्षित करने के लिए विशेष सेमिनार का आयोजन भी करेगा। इस सेमिनार का आयोजन आगामी महीनों में राष्ट्रीय डोपिंग रोधी एजेंसी (नाडा) के सहयोग से किया जाएगा। 

उषा ने कहा, ‘‘हम ओलंपिक खेलों के लिए जाने वाले खिलाड़ियों को डोपिंग रोधी नियमों के उल्लंघन के बारे में शिक्षित करना चाहते हैं जिससे कि खेलों के दौरान उचित अनुपालन सुनिश्चित किया जा सके।' उन्होंने कहा, ‘आईओए ने खेलों की अखंडता को बनाए रखने के लिए सख्त डोपिंग रोधी उपाय किए हैं।' 

यह पूछे जाने पर कि आईओए खेलों की तैयारी के लिए खिलाड़ियों को कैसे समर्थन दे रहा है, उन्होंने कहा, ‘खेलों के दौरान अच्छी प्रशिक्षण सुविधाएं होना महत्वपूर्ण है। आईओए यह भी सुनिश्चित करेगा कि खिलाड़ियों के पास चोटों से बचने और स्वस्थ रहने के लिए पर्याप्त खेल विज्ञान बैकअप हो।' 

पेरिस ओलंपिक खेल 26 जुलाई से 11 अगस्त तक होंगे। अक्टूबर में मुंबई में अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) के सत्र के दौरान उषा ने आईओसी प्रमुख थॉमस बाक के साथ भविष्य में भारत में ओलंपिक की मेजबानी की संभावना पर भी चर्चा की थी। 

उन्होंने कहा, ‘जैसा कि भारत के माननीय प्रधान मंत्री ने घोषणा की थी कि 2030 में युवा ओलंपिक और 2036 ओलंपिक खेलों की मेजबानी के लिए भारत की बोली से संबंधित विभिन्न मुद्दों पर यह एक अच्छी और स्वस्थ चर्चा थी।' उषा इस बात को लेकर भी सकारात्मक थीं कि कई निजी कंपनियां और राज्य सरकारें खेलों में निवेश कर रही हैं जिससे देश में खेलों के विकास को बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने यह भी बताया कि खेल मंत्रालय की खेलो इंडिया परियोजना उभरते हुए खिलाड़ियों के लिए अपनी प्रतिभा दिखाने का एक अच्छा मंच साबित हुई है। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Sanjeev

Recommended News

Related News