FIFA 2022 : रामोस की हैट्रिक, पुर्तगाल ने स्विट्जरलैंड को 6-1 से हराकर क्वार्टर फाइनल में बनाई जगह

punjabkesari.in Wednesday, Dec 07, 2022 - 11:12 AM (IST)

लुसैल: स्टार खिलाड़ी क्रिस्टियानो रोनाल्डो के शुरुआती एकादश में विकल्प गोंसालो रामोस की हैट्रिक से पुर्तगाल ने मंगलवार को यहां फीफा विश्व कप के प्री क्वार्टर फाइनल में स्विट्जरलैंड पर 6-1 की आसान जीत दर्ज की। पिछले महीने पुर्तगाल की ओर से पदार्पण करने वाले 21 साल के रामोस ने देश की ओर से पहली बार शुरुआती एकादश में जगह बनाई और उस खेल की झलक पेश की जिसके लिए रोनाल्डो मशहूर हैं। रामोस ने 17वें मिनट में पहला दागे दागा और फिर 51वें और 67वें मिनट में दो और गोल किए। 

रोनाल्डो 72वें मिनट में स्थानापन्न खिलाड़ी के रूप में उतरे, लेकिन उससे पहले ही टीम 5-1 की बढ़त के साथ अपनी जीत लगभग सुनिश्चित कर चुकी थी। पुर्तगाल की ओर से पेपे (33वें मिनट), राफेल गुरेइरो (55वें मिनट) और राफेल लियाओ (90 प्लस दो मिनट) ने भी गोल दागे। स्विट्जरलैंड की ओर से एकमात्र गोल मैनुअल अकांजी ने 58वें मिनट में किया। पुर्तगाल ने तीसरी बार विश्व कप के क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई है। टीम इससे पहले 1966 और 2006 में भी अंतिम आठ में पहुंचने में सफल रही थी। शनिवार को क्वार्टर फाइनल में टीम की भिड़ंत मोरक्को से होगी जिसने प्री क्वार्टर फाइनल में स्पेन को पेनल्टी शूट आउट में 3-0 से हराया। निर्धारित और अतिरिक्त समय के बाद दोनों टीम गोल रहित बराबर थी। 

पुर्तगाल के कोच फर्नांडो सांतोस को अब फैसला करना है कि वह अगले मैच में रामोस को ही मौका देंगे या फिर रोनाल्डो की वापसी कराएंगे जो पुरुष अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल में सर्वाधिक गोल दागने वाली खिलाड़ी और खेल के महानतम खिलाड़ियों में से एक हैं। रोनाल्डो ने मैदान पर उतरने के बाद कुछ अच्छे मूव बनाए। उन्होंने स्विट्जरलैंड के गोलकीपर यान सोमेर को छकाते हुए गोल भी दागा लेकिन यह ऑफ साइड हो गया।

मैच खत्म होने के बाद पुर्तगाल के खिलाड़ी स्टेडियम में मौजूद टीम के प्रशंसकों के अभिवादन के लिए मैदान पर ही रुक गए। रोनाल्डो हालांकि बाहर चले गए। वह संभवत: अपने करियर को लेकर चिंतित होंगे क्योंकि विश्व कप के बीच में ही मैनचेस्टर यूनाईटेड और उनका नाता टूट गया है और वह अभी किसी क्लब के साथ नहीं जुड़े हैं। रोनाल्डो को बाहर करने से एक दिन पहले कोच सांतोस ने दक्षिण कोरिया के खिलाफ टीम के अंतिम ग्रुप मैच में इस स्ट्राइकर को स्थानांतरित करने के बाद उनके रवैये को लेकर नाखुशी जताई थी। रोनाल्डो ने 2003 में जब पर्तुगाल के लिए पदार्पण किया था तो रामोस सिर्फ दो साल के थे। उन्होंने इस साल के विश्व कप में पहली हैट्रिक बनाई। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Editor

Ramandeep Singh

Related News

Recommended News