मौजूदा रणजी चैम्पियन सौराष्ट्र की नवंबर के पहले सप्ताह से शिविर शुरू करने की योजना

10/27/2020 6:33:09 PM

नयी दिल्ली, 27 अक्टूबर (भाषा) मौजूदा चैंपियन सौराष्ट्र नवंबर के पहले सप्ताह से प्रशिक्षण शिविर के साथ रणजी ट्रॉफी की तैयारी शुरू करने की योजना बना रहा है जिसमें कोविड-19 महामारी को लेकर राज्य सरकार और भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) के दिशानिर्देशों का कड़ाई से पालन किया जाएगा।

कोविड-19 के कारण देश में खेल गतिविधियों के रूकने से पहले मार्च में सौराष्ट्र और बंगाल के बीच रणजी ट्रॉफी का फाइनल मुकाबला भारत में आयोजित किया गया आखिरी घरेलू क्रिकेट मैच था।

सौराष्ट्र क्रिकेट संघ (एससीए) के अध्यक्ष जयदेव शाह ने मंगलवार को कहा कि शुरू में वे खंडेरी स्टेडियम में राजकोट के क्रिकेटरों के साथ शिविर लगाने की योजना बना रहे हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘ बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गंगुली ने कहा है कि जनवरी में घरेलू सत्र शुरू होने की संभावना है, ऐसे में हमने शिविर लगाने का फैसला किया है।’’
उन्होंने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘ शिविर की शुरूआत में हम सिर्फ राजकोट के क्रिकेटरों को बुलाएंगे और देखेंगे कि एक सप्ताह तक चीजें कैसे चलती हैं। अगर सब योजना के अनुसार हुआ तो हम दूसरे शहरों के अपने क्रिकेटरों को बुलाएंगे। खिलाड़ियों की सुरक्षा पर कोई समझौता नहीं किया जाएगा और सभी सरकारी और बीसीसीआई एसओपी (मानक संचालन प्रक्रिया) का पालन किया जाएगा।’’
शिविर में शामिल होने वाले से पहले खिलाड़ियों का कोविड-19 जांच किया जाएगा।

शाह ने कहा, ‘‘ हम इन महीनों में खिलाड़ियों के साथ लिए वेबिनार से जुड़े रहे और वे खुद ही प्रशिक्षण ले रहे थे।

सौराष्ट्र ने कप्तान जयदेव उनादकट, अर्पित वसावड़ा, अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी चेतेश्वर पुजारा एंड शेल्डन जैक्सन के शानदार प्रदर्शन के दम पर इस साल बंगाल को हराकर पहली बार रणजी ट्राफी का खिताब जीता।

महामारी के बीच घरेलू क्रिकेट को फिर से शुरू करने के बारे में गांगुली के बयान से बहुत कुछ स्पष्ट होने के बाद राज्य संघ आगामी सत्र की योजना बनाने लगे है।
उत्तराखंड क्रिकेट संघ ने 14 अक्टूबर से 14 नवंबर तक देहरादून में पुरुष टीम का शिविर शुरू किया है। महिला टीम का शिविर पिछले सप्ताह शुरु हुआ है। दोनों शिविर का आयोजन बायो-बबल (जैव सुरक्षित) माहौल में हो रहा है।

सौराष्ट्र के मामले में राजकोट के खिलाड़ी अपने घरों से स्टेडियम आयेंगे।

शाह ने कहा, ‘‘ चूकिं वे सब इसी शहर से ही है ऐसे में उन्हें किसी होटल में रखने की कोई आवश्यकता नहीं है। शिविर शुरू करते समय महामारी की स्थिति को ध्यान में रखते हुए, हम खिलाड़ियों को यह तय करने का अधिकार देंगे कि क्या वह शिविर में शामिल होने में सहज हैं।’’


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।


Edited By

PTI News Agency

Related News