अतुल वासन ने द. अफ्रीका सीरीज हार का दोष इन दो बल्लेबाजों पर लगाया

punjabkesari.in Saturday, Jan 15, 2022 - 12:02 PM (IST)

नई दिल्ली : केपटाउन के न्यूलैंड्स में दक्षिण अफ्रीका ने भारतीय टीम को 3 मैचों की टेस्ट सीरीज 2-1 से जीत ली। भारत ने पहला टेस्ट 113 रन से जीता था लेकिन दक्षिण अफ्रीका ने दूसरे और तीसरे टेस्ट में जीत दर्ज कर सीरीज अपने नाम की। भारत की इस हार के बाद भारत के पूर्व क्रिकेटर अतुल वासन ने निराशा व्यक्त की। उन्होंने कहा कि यह वह भारतीय टीम नहीं है जो हमने पहले देखी थी।

अतुल वासन ने कहा कि निश्चित रूप से यह टीम वैसी नहीं है जैसी हमने पहले देखी है। मैं निराश नहीं हूं क्योंकि क्रिकेट में ये चीजें होती हैं लेकिन मुझे इस तरह की हार की उम्मीद नहीं थी। यह दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेट के लिए एक अच्छा संकेत है क्योंकि कुछ हद तक वे दिशा से भटक गए थे। इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया में भारत का दबदबा था। एक अच्छी दक्षिण अफ्रीकी टीम भारतीय क्रिकेट के लिए बहुत अच्छा काम करेगी। सीरीज नहीं जीतना और सीरीज हारना निराशाजनक है लेकिन यह सीखने के लिए सबक है।

PunjabKesari

वासन ने आगे कहा कि मुझे लगता है कि राहुल द्रविड़ वहीं रहे हैं जहां हम 1-0 से आगे चलकर सीरीज में थे। द. अफ्रीका ने पहले भी ऐसा किया है लेकिन हां यह उनकी सबसे कमजोर टीम है। लेकिन आप देख सकते हैं कि उनके बल्लेबाजों ने जिस तरह से खेला वह वाकई कमाल का था। खासकर पीटरसन, बावुमा और वान डेर डूसन ने। यह दर्शाता है कि उनमें क्षमता है और भारत जैसी टीम को हराने से उन्हें विदेशों में भी बेहतर प्रदर्शन करने में मदद मिलेगी।

वासन ने आगे कहा कि अजिंक्य रहाणे और चेतेश्वर पुजारा टीम के लिए कुछ नहीं कर रहे हैं। भविष्य में उन्हें और मौके नहीं मिल सकते हैं। मुझे लगता है कि अजिंक्य रहाणे और चेतेश्वर पुजारा के लिए समय निकल चुका है क्योंकि वे कुछ खास नहीं कर रहे हैं। 40 और 50 उनके लिए काम नहीं करेगा। हमारे बल्लेबाजों ने इस बार हमें सीरीज हरवाई है। उन्होंने गेंदबाजों को 20 विकेट का बचाव करने के लिए उतने रन नहीं दिए। 

वासन ने आगे कहा कि हमने देखा कि जैसे-जैसे खेल आगे बढ़ा विकेट आसान होते गए और हमने देखा कि खिलाड़ी रन बनाते गए। इसलिए यह पिछले दो टेस्ट मैचों की तरह ही था। इसलिए दोष पुजारा और रहाणे का है। भारतीय टीम ने उन पर काफी निवेश किया है। हम चाहते थे कि वे खुद की भूमिका महसूस करें और उन्होंने अपनी भूमिका नहीं समझी। 
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Raj chaurasiya

Related News

Recommended News