विश्व शतरंज रैंकिंग में भारतीय युवाओं नें लगाई बड़ी छलांग , भारत का भविष्य इन्ही पर टिका

punjabkesari.in Friday, Aug 12, 2022 - 10:23 PM (IST)

चेन्नई ( निकलेश जैन ) 44वे शतरंज ओलंपियाड में भारत की युवा टीम जिसे भारत की बी टीम के तौर पर खेलने का मौका मिला और टीम नें कांस्य पदक जीतकर एक नया इतिहास रच दिया टीम अंतिम समय तक स्वर्ण पदक की बड़ी दावेदार थी । खैर इस टीम में खेलने वाले चार खिलाड़ियों की उम्र 16 से 18 वर्ष के बीच थी और उन्होने अपने प्रदर्शन से भारत के शानदार भविष्य की तस्वीर सामने रख दी है । वहीं टीम ए मे शामिल अर्जुन एरिगासी 2700 अंक हासिल करने की बड़ी उपलब्धि  हासिल की ।

PunjabKesari

डी गुकेश – पहले बोर्ड पर शानदार प्रदर्शन करने वाले 16 वर्षीय डी गुकेश नें  लगातार 8 मुक़ाबले जीतकर नया ओलंपियाड रिकॉर्ड तो बनाया ही उन्होने अपनी फीडे रेटिंग में 27 अंक जोड़कर 2726 अंको के साथ विश्व रैंकिंग मेन 24 वां स्थान हासिल कर लिया और साथ ही वह विश्वनाथन आनंद (2756) के बाद दूसरे नंबर के खिलाड़ी बन गए । गुकेश नें अपने इस प्रदर्शन से व्यक्तिगत स्वर्ण पदक भी हासिल किया ।

PunjabKesari

निहाल सरीन – टीम के लिए दूसरे बोर्ड पर एक दीवार बनकर खेलने वाले 18 वर्षीय निहाल  पूरे टूर्नामेंट मे अपराजित रहे और अपनी फीडे रेटिंग मे 19 अंक जोड़कर 2670 अंको के साथ विश्व रैंकिंग मे 74वे स्थान पर तो भारतीय खिलाड़ियो में सातवे स्थान पर पहुँच गए है । निहाल को दूसरे बोर्ड के लिए स्वर्ण पदक मिला ।

PunjabKesari

अर्जुन एरिगासी – टीम ए के लिए खेलने वाले अर्जुन के खेल के दीवाने विश्व चैम्पियन मेगनस कार्लसन भी है ,उन्होने टीम के लिए ओलंपियाड के लिए अपराजित रहते हुए सभी 11 मुक़ाबले खेले और तीसरे बोर्ड पर रजत पदक हासिल किया । अर्जुन नें अपनी रेटिंग में 13 अंक जोड़े और 2702 अंको के साथ वह यह कारनामा करने वाले सातवे भारतीय खिलाड़ी बन गए ,अर्जुन विश्व रैंकिंग में 38वे तो भारतीय खिलाड़ियों में पांचवे स्थान पर पहुँच गए ।

PunjabKesari

प्रग्गानंधा – टीम बी के लिए सभी महत्वपूर्ण मुक़ाबले जीतने वाले 17 वर्षीय प्रग्गानंधा भारतीय युवा खिलाड़ियों मे सबसे लोकप्रिय चेहरा है और उन्होने अपने प्रदर्शन से तीसरे बोर्ड का कांस्य पदक हासिल किया साथ ही 15 अंको की बढ़त के साथ 2676 अंको के साथ विश्व रैंकिंग मे 67वां तो भारतीय खिलड़ियों मे छठा स्थान हासिल कर लिया है ।

PunjabKesari

रौनक साधवानी – टीम के 16 वर्षीय इस सदस्य नें भी अपने खेल से खूब सुर्खियां बटोरी ,रौनक नें अपनी रेटिंग नें यूएसए के खिलाफ मुक़ाबले मे दिग्गज दोमिंगेज पेरेज के खिलाफ अपने आक्रामक खेल से सभी को प्रभावित किया तो जर्मनी के खिलाफ अंतिम मैच मे भी शानदार जीत हासिल की इस टूर्नामेंट के बाद रौनक 2629 फीडे रेटिंग अंको के साथ विश्व टॉप 100 मे आने के लिए प्रयासरत है !


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Niklesh Jain

Related News

Recommended News