रवि शास्त्री ने टेस्ट जीत का श्रेय खिलाड़ियों को नहीं बल्कि इसे दिया

3/6/2021 8:51:03 PM

अहमदाबाद : भारत के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने शनिवार को माना कि मोटेरा ट्रैक की प्रकृति पर हल्ला मचाने का कोई कारण नहीं दिखता है क्योंकि क्यूरेटर ने ऐसी पिचें बनाई जिनसे यहां पिछले दो मैचों में ‘शानदार मनोरंजन' हुआ। इंग्लैंड के कुछ पूर्व खिलाड़ियों ने तीसरे टेस्ट के लिए पिच की कड़ी आलोचना की थी क्योंकि मेहमान टीम दिन/रात्रि मुकाबले में 112 और 81 रन पर सिमट गई थी। इंग्लैंड को स्पिनरों के लिए फायदेमंद पिच पर खेलने में परेशानी हुई जबकि भारत ने यहां तीसरे और चौथे टेस्ट में जीत हासिल कर जून में न्यूजीलैंड के खिलाफ विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप फाइनल के लिए क्वालीफाई किया। 

जीत के बाद कोच शास्त्री ने कहा कि मैं इसे मैदानकर्मियों को समर्पित करूंगा। मुझे लगता है कि आशीष भौमिक एक शानदार मैदानकर्मी हैं, वह अपना काम जानते हैं। वह दलजीत सिंह के साथ काम कर चुके हैं जो मास्टर क्यूरेटर हैं। कौन इस पिच की शिकायत करेगा? इस पर शानदार मनोरंजन हुआ, दोनों टीमों के लिए और खेल के लिए। साथ ही 3-1 के नतीजे से पता नहीं चलता कि यह श्रृंखला कितनी करीब थी।

शास्त्री ने टीम के विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप फाइनल में जगह बनाने के लिए प्रशंसा की जबकि पिछले साल अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद ने क्वालीफिकेशन के मानदंड में बदलाव किया था। उन्होंने कहा कि हमारे लिए विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप में तालिका में शीर्ष पर रहना ढाई साल की मेहनत है और उन वर्षों में सफल होने के लिये इससे पहले छह साल की मेहनत है।

शास्त्री ने कहा कि खिलाड़ियों ने एक बार में एक ही श्रृंखला पर ध्यान दिया और वे विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप के बारे में ज्यादा परेशान नहीं थे क्योंकि ‘गोल पोस्ट' हर बार शिफ्ट हो जाता था। हम तालिका में शीर्ष पर चल रहे थे और कुछ नियमों में बदलाव के बाद प्रतिशत प्रणाली आ गई, जब हम खेल भी नहीं रहे थे। लेकिन कोई बात नहीं, फिर भी हमें 520 अंक मिले, हम तालिका में शीर्ष पर रहने और फाइनल खेलने के हकदार हैं।
 


Content Writer

Raj chaurasiya

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static