सहवाग का बड़ा आरोप- शोएब जानता था कि वह गेंदबाजी करते ‘चकिंग’ करता है

punjabkesari.in Wednesday, May 18, 2022 - 10:35 PM (IST)

मुंबई : भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने शोएब अख्तर के गेंदबाजी एक्शन को यह कहते हुए ललकारा है कि तेज गेंदबाज ‘अपनी कोहनी को झटका देता था और वह जानता था कि यह चकिंग है’। सहवाग ने यह भी कहा कि उनके लिए ब्रेट ली की गेंद को पढऩा आसान था क्योंकि उनका हाथ सीधे नीचे आता था। लेकिन अख्तर के मामले में ऐसा नहीं था। क्योंकि शोएब को देखकर आप अंदाजा नहीं लगा सकते थे कि उनका हाथ और गेंद कहां से आएगी।

Virender Sehwag, Sehwag, Shoaib Akhtar, IPL 2022, chucking, वीरेंद्र सहवाग, सहवाग, शोएब अख्तर, आईपीएल 2022, चकिंग


सहवाग ने एक शो में कहा- शोएब जानता था कि वह हमेशा अपनी कोहनी को झटका देता था, वह जानता था कि वह भी चकिंग कर रहा है। आईसीसी उसे प्रतिबंधित क्यों करेगा? सहवाग बोले- ब्रेट ली का हाथ सीधे नीचे आता था इसलिए उन्हें खेलना आसान था। लेकिन शोएब के साथ आप कभी अनुमान नहीं लगा सकते थे कि उनका हाथ और गेंद कहां से आएगी।

Virender Sehwag, Sehwag, Shoaib Akhtar, IPL 2022, chucking, वीरेंद्र सहवाग, सहवाग, शोएब अख्तर, आईपीएल 2022, चकिंग

सहवाग ने कहा- मुझे ब्रेट ली का सामना करते कभी डर नहीं लगा। लेकिन शोएब के साथ ऐसा नहीं था। मैं देखता था कि अगर मैं उसे दो बार फेंस पर मारूंगा तो वह क्या करेगा। शायद बीमर या टो-क्रशिंग यॉर्कर आगे आएगा। बता दें कि सहवाग को टेस्ट में शोएब का सामना करना काफी रास आया। उन्होंने 90 की औसत से एक शतक, दो दोहरे शतक और एक तिहरा शतक पाकिस्तान के खिलाफ जड़ा जब शोएब टीम में थे। 

 

 

यह भी पढ़ें:- क्विंटन डिकॉक ने कोलकाता खिलाफ खेली रिकॉर्डतोड़ पारी, अपने नाम की ये बड़ी उपलब्धि

यह भी पढ़ें:- डिकॉक ने 10 चौके, 10 छक्के लगा पूरी की सेंचुरी, फैंस ने लिखा- यह है तोड़-फोड़ वाली फीलिंग

 

वहीं, बड़े स्कोर बनाने के लिए क्या माइंडसेट होना चाहिए, सवाल पर सहवाग ने कहा कि मुझे पता था कि सचिन तेंदुलकर, राहुल द्रविड़, वीवीएस लक्ष्मण, सौरव गांगुली शतक के लिए 150-200 गेंदें खेलेंगे। अगर मैं भी इसी दर से शतक बनाता रहा तो मुझे कोई याद नहीं करेगा। मुझे अपनी पहचान बनाने के लिए उनसे तेज रन बनाने थे। इसलिए मैं सोचता था कि अगर पूरा दिन टिका रहा तो 250 रन बनाऊंगा। इसके बाद 100, 150, 200 आदि के बैरियर पार करता था। मैं नर्वस नाइंटीज को लेकर ज्यादा सीरियस नहीं होता था क्योंकि मेरा लक्ष्य सिर्फ शतक बनाना नहीं बल्कि बड़ा शतक बनाना होता था। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Jasmeet

Related News

Recommended News